CBSE Board PM Modi Speech: पीएम मोदी बोले देश के सभी CBSE स्कूलों में एक पाठ्यक्रम होगा।

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के राष्ट्रीय शिक्षा नीति पर बोलते हुए प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने मातृभाषा में शिक्षा पर जोर दिया है और अपने भाषण में पीएम मोदी ने कहा है कि शिक्षा ही है जो देश के भविष्य को बदलने की ताकत रखता है और उन्होंने कहा है कि 29 जुलाई को राष्ट्रीय शिक्षा नीति की तीसरी वर्षगांठ के मौके पर नई दिल्ली के प्रगति मैदान के भारत मंडमप में अखिल भारतीय शिक्षा समागम का उद्घाटन किया है और इस दौरान प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आने वाले समय में सीबीएसई स्कूलों में एक पाठ्यक्रम लागू किया जाए जिसके लिए 22 भाषाओं में पाठ्यपुस्तकें तैयार की जा रही है और इस दौरान पीएमश्री योजना की पहली किस्त भी जारी की जाएगी।

सीबीएसई के सभी स्कूल में बदली गई शिक्षा नियम यहां पढ़ें जरूरी सूचना

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने अपने भाषण में कहा है कि इस सीबीएसई के सभी स्कूलों में 22 भाषाओं में नई शिक्षा नीति के तहत नई शिक्षा नीति लागू की जाए और शिक्षा ही हमारे देश को बदलने की एक रहा है देश जिस लक्ष्य की ओर आगे बढ़ रहा है उसमें शिक्षा ही अहम भूमिका निभा रही है आप इसके प्रतिनिधि हैं अखिल भारतीय शिक्षा समागम का हिस्सा बनना मेरे लिए सौभाग्य की बात है और एक महत्वपूर्ण अवसर है ऐसा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है।

CBSE Board PM Modi Speech
CBSE Board PM Modi Speech

सीबीएसई बोर्ड 10th+2 की जगह नया नियम लागू

प्रधानमंत्री ने नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति के पारंपरिक ज्ञान प्रणाली को लेकर के भविष्य में टेक्निकल को संतुलित के तरीकों को महत्व दिया है रिसर्च इको सिस्टम को मजबूत करने के लिए देश के शिक्षाविदों ने बहुत ही मेहनत की है और हमारे विद्यार्थी नई व्यवस्थाओं से भलीभांति परिचित हैं और उन्हें यह भी जानकारी है कि 10+2 एजुकेशन सिस्टम की जगह 5+3+3+4 शिक्षा प्रणाली लाई जा रही है और अब पढ़ाई की शुरुआत 3 साल की उम्र में शुरू होगी इससे देश में एकरूपता आएगी और शिक्षा में भी सुधार आएगी।

अपनी भाषाओं को हमने पीछे छोड़ा है इस पर पीएम मोदी ने दिए जवाब

हमने अपनी भाषाओं को लेकर कि युवाओं के उनकी प्रतिभा के बजाय उनकी भाषा के आधार पर जज किया है और उनके साथ यह बहुत बड़ा अन्याय है मातृभाषा में पढाई होने से अब भारत की युवा टैलेंट के साथ अपनी असली रूप में नए सिरे से शुरुआत करेंगे और यह सामाजिक न्याय की अहम भूमिका रहेगी।

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने कहा है कि ज्यादातर विकसित देश अपने भाषा के आधार पर ही बढ़त हासिल की है और हम भी अपनी भाषा के आधार पर ही पिछड़ेपन देश को आगे की ओर बढ़ाएंगे और इससे हमारे देश को बहुत ही मजबूती होगी कोई कितना भी इनोवेटिव माइंड क्यों ना हो और अंग्रेजी ना बोलना जानता हो तो उसकी प्रतिभा का स्वीकार नहीं किया जाता था लेकिन अब इसका सबसे बड़ा नुकसान ग्रामीण क्षेत्र के बच्चों को उठाना पड़ता था लेकिन नई शिक्षा नीति के अनुसार अब पिछड़े क्षेत्र को शिक्षा नीति के अनुसार बहुत ही मदद मिलने वाली है।

प्रधानमंत्री का निर्देश अपनी भाषा पर आधारित इन दुकानों पर लगेगी शटर

प्रधानमंत्री मोदी ने राष्ट्रीय शिक्षा नीति के जरिए इस महीने हीन भावना को पीछे छोड़ने की शुरुआत कर दी है और मोदी ने यह कहा कि मैं जब भी विदेश जाता हूं तो मैं अपनी भाषा ही बोलता हूं और समझने वाले को ताली बजाने में भले ही थोड़ी देर समय लगता हो लेकिन कोई बात नहीं मातृभाषा शिक्षा इससे ना केवल युवाओं को अपनी प्रतिभा सामने लाने में बल्कि राजनीति करके अपनी दुकान चलाने वालों शटर भी बंद किए जाएंगे।

Also, Read………….

CBSE Compartment Result 2023: CBSE Board Compartmental Result Date OUT
Best Recharge Plans ₹3 में 365 दिन अनलिमिटेड कॉल और अनलिमिटेड डाटा यहां से करे रिचार्ज।
8000 से ज्यादा शहरों पहुंचा Airtel, Jio 5G का सबसे सस्ता प्लान यहाँ करें रिचार्ज अनलिमिटेड डाटा के साथ

CBSE Compartment Result 2023: CBSE Board Compartmental Result Date OUT

Best Recharge Plans ₹3 में 365 दिन अनलिमिटेड कॉल और अनलिमिटेड डाटा यहां से करे रिचार्ज।

8000 से ज्यादा शहरों पहुंचा Airtel, Jio 5G का सबसे सस्ता प्लान यहाँ करें रिचार्ज अनलिमिटेड डाटा के साथ

Leave A Reply

Your email address will not be published.